मिट्टी भी जमा की... और खिलौने भी बना कर देखे.

मिट्टी भी जमा की... और खिलौने भी बना कर देखे...

पर ज़िन्दगी कभी न मुस्कुराई फिर बचपन की तरह..!!